मेरे ब्लॉग को पढने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.....

मेरी कलम से: प्यार की छोटी सी कहानी

Wednesday, April 4, 2012

प्यार की छोटी सी कहानी



आज प्यार को चाहे हम और आप कुछ भी समझते हों लेकिन प्यार वास्तव में हमेशा से ही दो शरीर का नहीं बल्कि उनकी आत्मा का मिलन है. प्यार को समझना वैसे तो बहुत मुश्किल है लेकिन एक छोटी सी कहानी इस प्यार को बहुत अच्छे ढंग से बताती है जिसमें प्यार को पाने के लिए लोग मौत तक की परवाह नहीं करते....
एक दिन एक चिड़िया को एक सफेद गुलाब से प्यार हो जाता है.
वो चिड़िया अपने प्यार का प्रस्ताव लेकर वो सफेद गुलाब के पास गयी.
लेकिन वो सफेद गुलाब उसके प्यार को नकार दिया.
लेकिन वो चिड़िया प्यार में पागल बार - बार उस सफेद गुलाब के पास गयी.
उसके प्यार को वो सफेद गुलाब नहीं समझ पाया और उससे पीछा छुड़ाने के लिए
एक दिन सफेद गुलाब बोला की यदि जिस दिन मै लाल रंग का हो जाऊंगा उस दिन मै तुमसे प्यार करूँगा
यह सुनकर चिड़िया ख़ुशी से उस गुलाब के पौधे के पास लोटने लगी. उस चिड़िया प्यार में पागलो की तरह लोटने लगी.
गुलाब के कांटो से वो चिड़िया के बदन से खून बहने लगा और खून बहते बहते वह सफेद गुलाब लाल रंग का हो गया
उसके यह प्यार को देखकर सफेद गुलाब जो लाल रंग का हो जाता है उसे भी उस चिड़िया से प्यार हो जाता है.
और वो गुलाब उससे अपने प्यार को बताने के लिए आगे बढता है. तो देखता है की , चिड़िया मर गयी है
यह देखकर वह गुलाब बहुत रोया , बहुत दुखी हुआ और ऐसे ही वो एक दिन सूख गया.

इसलिए कहते है की , प्यार कभी भी किसी से भी हो जाता है . प्यार छोटा बड़ा आमिर गरीब नहीं देखता प्यार तो बस दो आत्मायो को मिलन होता है
सच्चा प्यार कभी किसी इन्तहान का मोहताज नहीं होता प्यार का कभी भी इन्तहान नहीं लेना चाहिए................

No comments:

Post a Comment